भारत की प्रमुख झीले (Bharat Ke Pramukh Jhile) — हिंदी ज्ञान कोश

भारत की प्रमुख झीले (Indias Important lakes)-

चिल्का भारत की सबसे बड़ी तटीय झील है जो उड़ीसा में स्थित है यहां खारे पानी की एक लैगून झील है!चिल्का झील की लंबाई 65KM चौड़ाई 9 से 20KM.और गहराई लगभग 2 मी.है! इसे दया और भार्गवी नदी से जल प्राप्त होता है यहां पर नौसेना का प्रशिक्षण केंद्र अवस्थित है !

वूलर झील भारत में सबसे मीठे पानी की झील है यह कश्मीर घाटी (जम्मू कश्मीर) में स्थित है! इसका क्षेत्रफल 160 वर्ग किमी.है! इस पर तुलबुल परियोजना संचालित की जा रहीं हैं! झील की उत्पत्ति प्लास्टोसीन युग में विवर्तनिकी क्रियाओं के कारण हुई है ! इसको झेलम नदी से जल की प्राप्ति होती है

यह भारत की सर्वाधिक खारे पानी की झील है! यह जयपुर के समीप (राजस्थान) में स्थित है, इसका क्षेत्रफल 160 वर्ग किलोमीटर है! एजेंसी नमक की प्राप्ति होती है! हजारों साइबेरिया पक्षी जाड़े के मौसम में प्रवास कर इस झील में आते हैं! सांभर झील को रामसर साइट का दर्जा प्राप्त है!

लोकतक झील (मणिपुर) पूर्वोत्तर भारत में मीठे पानी की सबसे बड़ी झील है इस झील में केबुललामजाओं नाम का तैरता हुआ राष्ट्रीय पार्क स्थित है! इस झील को विश्व में तैरती द्वीपीय झील के रूप में जाना जाता है, क्योंकि यहां तैरते हुए फुम्डिज होते हैं!

यह आंध्र प्रदेश एवं तमिलनाडु की सीमा पर स्थित है, इसका 84% भाग आंध्र प्रदेश में एवं 16% भाग तमिलनाडु में पड़ता है! यह कोरोमंडल तट पर स्थित दूसरी सबसे बड़ी खारे पानी की झील है इसे अरानी, कालंजी एवं स्वर्णमुखी नदियों से जल की प्राप्ति होती है!

इस झील श्रीनगर (जम्मू कश्मीर) की एक प्रसिद्ध झील है इसका क्षेत्रफल 18 वर्ग किलोमीटर है! यह गगरीबल लोकुट डल, बोट डल, नागिन झील आदि चार बेसिनों में विभाजित है! इस फिल्म में लगभग 500 शिकारें(House) पाए जाते हैं शिकारों के अलावा इस झील में वॉटर सॉफ्टनिंग, क्याकिंग, कैनोइंग की सुविधा भी उपलब्ध है! झील में कमल के फूल कुुुुमुद एवं सिंघाड़ेेे पाए जाते हैं! प्रदूषण के कारण ईसीएल का क्षेत्रफल घटता जा रहा है!

वेम्बानाड झील पश्चिमी तट पर स्थित एक लैगून झील है इसका क्षेत्रफल लगभग 200 वर्ग किलोमीटर है! यहां केरल की सबसे बड़ी झील है! वेम्बानाड झील में स्थित वेलिंगटन द्वीप पर राष्ट्रीय नौकायन प्रतियोगिता होती है! भारत का सबसे छोटा नेशनल हाईवे NH- 47A इस द्वीप ही पर स्थित है!

यह राजस्थान के अजमेर जिले में स्थित एक कृत्रिम झील है लूनी नदी पर बांध बनाकर इसका निर्माण किया गया है! इसे कोंकण झील, पंचम तीर्थ, तीर्थराज,तीर्थों का मामा भी कहा जाता है! नवंबर की कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर अनेक तीर्थयात्री इस झील में पवित्र स्नान के लिए आते हैं!

यह झील हैदराबाद और सिकंदराबाद के बीच स्थित है! इसे हुसैन शाह वली द्वारा 1565 में मुसी नदी की सहायक नदी पर बनाया गया था ! हुसैन सागर झील से हैदराबाद को जलापूर्ति की जाती है!

यह झील भारत की सर्वाधिक ऊंचाई पर स्थित झील है! यह सिक्किम में स्थित है! तीस्ता नदी का उद्गगम भी यहीं से होता है!

पर्यावरण एवं जैव विविधता संबंधित विभिन्न अधिनियम Mppsc,पर्यावरण से संबंधित प्रमुख सम्मेलन

Originally published at https://hindigyankosh.com on October 26, 2021.

--

--

--

Love podcasts or audiobooks? Learn on the go with our new app.

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store
Hindigyankosh

Hindigyankosh

More from Medium

The Sydney Opera House Effect

Wallsend Cranes At The End of Fenham Hall Drive When They Should Be In Wallsend

Axelar — as new opportunities to shorten and simplify the life of cryptons

Letter to the Editor: How We Were Duped Into Celebrating SCP-173’s Image Removal

The joys and woes of building a Mini-ITX Computer System